हरियाणा में राशन कार्ड से संबंधित काम दो महीने के लिए रहेंगे बंद, ये है वजह

आने वाले 2 महीने तक हरियाणा में नए राशन कार्ड में नाम जुड़वाने, नाम कटवाने और गलतियों को ठीक करवाने जैसे कार्यों पर पूरी तरह से रोक रहेगी | प्रदेश सरकार ने खाद्द आपूर्ति विभाग से संबंधित कुछ कार्यों को बंद किया है | जिसके तहत ही राशन कार्ड से जुड़े कईं काम आगामी 2 महीने तक नहीं होंगे |

बताया जा रहा है कि परिवार पहचान आईडी पत्र में शामिल सदस्यों की संख्या कार्ड के सदस्यों की संख्या के साथ मिलान नहीं हो रहा है | जिसके चलते ही खाद्य आपूर्ति विभाग मुख्यालय ने 2 महीने के लिए राशन कार्ड से संबंधित कामों पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है | इस संबंध में अधिकारियों ने जानकारी दी और बताया कि परिवार पहचान पत्र में शामिल सदस्य और राशन कार्ड में शामिल सदस्यों की संख्या में कुछ खामियां हैं | प्रदेशभर से उपभोक्ताओं से फैमिली आईडी मांगी गई थी और जब फैमिली आईडी राशन कार्ड का मिलान किया गया तो मिलान सही नहीं होने के कारण मुख्यालय से 2 दिन के लिए पोर्टल को बंद करने का फैसला किया गया |

दरअसल, प्रदेश में लाखों लोग सस्ता अनाज ले रहे हैं| लेकिन किसी भी सदस्य या बुजुर्ग की मौत होने के बाद भी उसके परिवार के सदस्य उनका राशन कार्ड से नाम डिलीट नहीं करवाते जिसके चलते ही वह काफी सालों तक उनके नाम पर राशन लेते रहते हैं | लेकिन अब फैमिली आईडी बनने के बाद विभाग का डाटा मैच नहीं हो रहा है पाया गया है कि करीब पांच लाख से ज्यादा मृतक परिजनों के नाम पर राशन ले रहे हैं |

अधिकारियों की माने तो हरियाणा में इस समय 28 लाख 38 हजार 641 राशन ले रहे हैं जिसमें से हिसार जिले में ही 2 लाख 12हजार  610 उपभोक्ता हैं वही चरखी दादरी में करीब 43 हजार उपभोक्ता सस्ता राशन ले रहे हैं वही हैरानी की बात तो यह है कि 28 लाख राशन कार्ड उपभोक्ताओं में से 5 लाख से अधिक मृतक आज भी राशन ले रहे हैं |

Leave a Comment