8th to 12th students will get tab from January, monthly test will be online from these

8वीं से 12वीं के छात्रों को जनवरी से मिलेंगे टैब, मासिक टेस्ट इन्हीं से होंगे ऑनलाइन….

पंचकुला । कोरोना महामारी के चलते प्रदेश के राजकीय स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों का सिलेबस पूरा नहीं हो पाया. शिक्षा विभाग द्वारा विद्यार्थियों की पढ़ाई को पूरा करने के लिए करीब 320 करोड रुपए की योजना बनाई जा चुकी है. इसके तहत 8.13 लाख विद्यार्थियों को टैब दिए जाएंगे. वित्त विभाग द्वारा इस फाइल को पहले ही मंजूरी दी जा चुकी है. अब संबंधित विभाग इस टेंडर को जल्द ही पास करने की तैयारी में जुटा है.

Students in ITI will make dual desks for themselves

जनवरी में वितरित किए जाएंगे विद्यार्थियों को टैब

सूत्रों का कहना है कि इस कार्य में तेजी आई है. जनवरी में यह टैब विद्यार्थियों के हाथों में होगा. इसमें पढ़ाई से संबंधित कंटेंट होगा. जल्द ही सीएम मनोहर लाल खट्टर विद्यार्थियों को यह टैब वितरित करेंगे, ताकि उनका सिलेबस पूरा हो सके. अब तक हुई प्रक्रिया को लेकर वे जल्द ही विभाग के अफसरों की बैठक भी लेंगे. अवसर ऐप का उपयोग अब टैब में किया जाएगा. इससे बच्चों को पढ़ने कंटेंट देखने सप्ताहिक टेस्ट,मासिक मूल्यांकन टेस्ट,सतत एवं समृद्ध मूल्यांकन, शंका समाधान आदि की सुविधाएं मिलेंगी.

विद्यार्थियों को मेड इन चाइना टैब वितरित नहीं किए जाएंगे

फिलहाल ऐसा कोई टेंडर नहीं हुआ है लेकिन इस प्रक्रिया में यह शर्त रखी गई है कि यह टैब मेड इन चाइना नहीं होंगे. चाइनीस प्रोडक्ट्स शिक्षा विभाग और सरकार विद्यार्थियों के हाथों में नहीं देना चाहती. ऐसे में जिस भी कंपनी को यह टेंडर मिलेगा उसके लिए एक8.13 लाख टैब एक साथ जुटाना बहुत बड़ी चुनौती होगी. वित्त विभाग द्वारा इसको पहले से ही मंजूरी दी जा चुकी है.

शिक्षा विभाग की योजनाएं की आठवीं से लेकर 12वीं कक्षा तक के विद्यार्थियों को परीक्षा की तैयारी के लिए टाइम वितरित किए जाए. इन पांच कक्षाओं में सरकारी स्कूलों में करीब 8.13 लाख विद्यार्थी पढ़ते हैं. सीएम द्वारा इस योजना को पहले ही मंजूरी दी जा चुकी है. अब संबंधित विभाग को भी यह फाइल भेज दी गई है.

विद्यार्थियों को टैब में यह कंटेंट मिलेगा

टैब में प्रीलोडेड कंटेंट होंगे. इनमें डिजिटल पुस्तकों के साथ विभिन्न प्रकार की टेस्ट वीडियो और अन्य सामग्री भी दी जाएगी. जो पाठ्यक्रम के अनुसार होगी. घर बैठे विभिन्न प्रकार के विषय की पढ़ाई करने की सुविधा मिलेगी. इसके जरिए वे ऑनलाइन शिक्षा और ऑनलाइन परीक्षा दे सकेंगे. इसमें सिर्फ वही साइट खोली जा सकेगी जो शिक्षा विभाग द्वारा स्वीकृत होगी.अभी भी सरकारी स्कूलों में नौवीं से 12वीं कक्षा के विद्यार्थी स्कूलों में पढ़ने के लिए बहुत कम संख्या में पहुंच रहे हैं. विद्यार्थियों की संख्या स्कूलों में बहुत कम है इसलिए टैब देना बहुत आवश्यक हो गया है.

Read MORE…………. https://www.hindunewspaper.in

Leave a Comment