फसल बीमा योजना में पात्र किसान उनके लाभ से वंचित नहीं रहने चाहिएः नरवाल

अतिरिक्त उपायुक्त राहुल नरवाल ने बैंक व बीमा कंपनी अधिकारियों को दिए निर्देश

Insurance scheme for wheat, barley to continue

भिवानी। अतिरिक्त उपायुक्त राहुल नरवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना सरकार की बड़ी ही महत्वाकांक्षी योजना है। योजना का मुख्य उद्देश्य किसान को प्राकृतिक आपदा से हुए फसल नुकसान की भरपाई करना है। ऐसे में कोई भी पात्र किसान फसल बीमा योजना के लाभ से वंचित नहीं रहना चाहिए।

अतिरिक्त उपायुक्त नरवाल ने वीरवार को लघु सचिवालय स्थित डीआरडीए सभागार में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के क्रियान्वयन की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने बीमा कंपनी और बैंक अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए कि फसल बीमा योजना के क्रियान्वन में किसी प्रकार से लापरवाही न बरतें।

उन्होंने कहा कि सरकार का लक्ष्य है कि किसानों को किसी भी प्रकार से नुकसान न हो। किसान को उनकी फसल की पूरी लागत और अधिक से अधिक उपज मिले। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के माध्यम से सरकार द्वारा किसानों को प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान की भरपाई की जा रही है।

नरवाल ने कहा कि किसी बैंक या बीमा कंपनी के स्तर पर जिन किसानों के आधार जनरेट नहीं किए गए हैं, बे जनरेट किए जाएं। बीमा कंपनी व बैंक अधिकारी अपने कार्य को पूरी पारदर्शिता व निष्पक्षता के साथ करें। उन्होंने बीमा कंपनी के प्रतिनिधियों को निर्देश दिए कि सर्वे नंबर न होने के कारण के नाम पर किसी भी किसान का बीमा लाभ नहीं रूकना चाहिए। ऐसे पात्र किसानों के दस्तावेजों में सभी प्रकार की त्रुटि अतिशीघ्र दूर की जाए।

सरकारी job रोजगार से संबंधित किसी भी खबर के लिए ज्वाइन करें हमारा व्हाट्सएप ग्रुप.

नरवाल ने कहा कि किसी भी स्तर पर गलती पाए जाने पर नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इस दौरान कृषि विभाग उप निदेशक डॉ. आत्माराम गोदारा, लीड बैंक मैनेजर बीके धींगडा सहित सभी संबंधित बैंकों से प्रतिनिधि व भारतीय कियान यूनियन के प्रतिनिधि भी मौजूद रहे।

कुषि यन्त्रों के बिल अपलोड की। तारीख 27 नव्बर तक बढ़ीः: जिन। किसानों 21 अगस्त 2020 तक सीआरएम स्कीम के तहत कृषि विभाग। के पोर्टल पर व्यक्तिगत एंव कस्टम हायरिंग सैंटर स्थापित करने हेतू ऑनलाईन आवेदन किया था। उन किसानों के लिए मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर अपनी फसल का पंजीकरण करवाना अनिवार्य है,

Leave a Comment