दिल्ली दूर नहीं… अम्बाला से 5 नाके तोडकर 155 किमी चले, अब 45 किमी में 3 और बाधाएं

किसान आंदोलन: Delhi के सभी बॉर्डर सील, मेट्रो सेवाएं भी रहेंगी बंद

• कर्णलेक पर लगे नाके पर करनाल और पानीपत के करीब 700 जवान तैनात, पर रोक नहीं पाए

तीन कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली जा रहे हरियाणा और पंजाब के किसानों का हौसला कम नहीं हो रहा। किसान अम्बाला शंभू बॉर्डर से लेकर पानीपत से आगे हल्दाना तक 155 किलोमीटर के सफर में 5 पुलिस नाके तोड़ चुके हैं। अब 45 किलोमीटर का सफर बाकी है। अभी 3 बाधाएं हल्दाना बॉर्डर, कुंडली बॉर्डर और दिल्ली में एंट्री पर हैं, जहां बडी संख्या मुं ल के साथ बीएसएफ के जवान भी लगाए। गए हं। हल्दाना बॉडर पर हाईवे खोद रखा है, जहां गुरुवार रात सवा ग्यारह बजे तक किसान पहुंच चुके थे।

गौरतलब है कि बुधवार रात से ही किसानों को रोकने के लिए कर्ण लेक पर किसानों बैरिकेड, पत्थरा और बजरी भरे ट्रकों को ट्रैक्टर से टोचन करके हटाया। पुलिस ने पानी की बौछार के साथ आंसू गैस के गोले छोड़े, लेकिन किसान पौछे नहीं मुडे। उन्हें रोकने के लिए चरौंडा टोल को बंद किया गया था। यहां करीब 500 ट्रक खड़े किए गए थे, लेकिन किसान। यहां भी नहीं रुके और पानीपत के लिए कूच कर गए। पहले पानीपत। में नाइट स्टे का कार्यक्रम था, पहले लंगर खाया। कुछ किसान वहीं लेट गए, कुछ समालखा से आगे हल्दाना में नाके पर पहुंचे गए, उनपर पानी की बौछारें की गई तो किसान शांत हो गए।

कुंडली बॉर्डर पर भी पुलिस तैनात है। दिल्ली की तरफ सिंघु बोर्डर पर बीएसएफ व दिल्ली पुलिस ने नाकेबंदी की है। दल्ली में इंट्री करने वाले हर वाहन की निगरानी की जा रही है। दिल्ली बॉडर पर यहा डीटीसी की बस में पंजाब के पूर्व विधायक परमजीत सिंह को हिरासत में लिया गया है। दिल्ली में भी नाका लगा है। गुड़गांव में प्रदर्शन कर रहे योगेंद्र यादव और अन्य किसानों को हिरासत में लिया गया है। बिलासपुर थान क्षेत्र में योंगंद्र यादिल्ली ओर जाने की तैयारी में थे।

Leave a Comment