किसान आंदोलन के चलते हरियाणा में हाई अलर्ट, DGP ने सभी जिलों के SP को दिए निर्देश

हरियाणा में हाई अलर्ट हुआ जारी

अफवाहो के माध्यम से हिंसा भड़काने वालों और दंगा करने वालों को हिरासत में लेकर उनके अंजाम तक पहुंचाया जाएगा. गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली में हुए हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए हरियाणा के डीजीपी मनोज यादव ने यह निर्देश जारी किए हैं. उन्होंने हाई अलर्ट जारी करते हुए तमाम पुलिस कप्तानों को अधिक सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं. साथ ही उन्होंने कहा है कि सभी दंगा करने वाले और उपद्रवियों से सख्ती से निपटने के लिए पुलिस आयुक्तों, रेंज एडीजीपी/आईजी और जिला पुलिस अधीक्षको हाई अलर्ट पर किया जाए. जिन जगहों पर दंगों की स्थिति ज्यादा है, वह अतिरिक्त मात्रा में फ़ोर्स लगा दी गई है. डीजीपी ने चेतावनी देते हुए साफ कहा कि अब पुलिस किसी तरह का कोई रिस्क नहीं लेगी.

डीजीपी ने कहा हिंसा करने वालों को बक्सा  नहीं जाएगा

जो भी कानून व्यवस्था को बिगाड़ने का प्रयास करेंगे पुलिस द्वारा उनसे सख्ती से निपटा जाएगा. उन्होंने कहा कि 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के दिन दिल्ली में हुए हिंसक प्रदर्शन के बाद किसान अपने गंतव्य स्थानों की ओर लौट रहे हैं. अब  पुलिस की नजर चप्पे-चप्पे पर होगी. वापसी के दौरान अगर कोई भी सरकारी कार्यालय,वाहनों और राज्य सरकार के संपत्ति को नुकसान पहुंचाते  है. कानून व्यवस्था को बिगाड़ने की कोशिश करते है.

तो पुलिस बल प्रयोग करने से नहीं हिचकेगी. हरियाणा के डीजीपी मनोज यादव ने कहा कि किसान आंदोलन की आड़ में कुछ असामाजिक तत्व अपना स्वार्थ सिद्ध करने के लिए अफवाह फैला रही है. इसी के चलते पुलिस ने सोशल मीडिया पर भी पैनी नजर बनाई हुई है. किसी भी प्रकार की भड़काने, उकसाने वाली और अराजकता फैलाने वाली पोस्ट शेयर या फॉरवर्ड की जाती है, तो उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी.

Leave a Comment