PM Modi मीटिंग के दौरान ने मुख्यमंत्री खट्टर को लगाई फटकार, जाने ऐसा क्या हुआ मीटिंग में

7 similarities between Modi and Khattar - India News

चंडीगढ़ । भारत के PM श्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के संबंध में 8 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की है. इस बैठक में जब हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर करोना संबंधित आंकड़े बताने लगे तो PM नरेंद्र मोदी ने उन्हें फटकार लगा दी. PM मोदी ने कहा कि आंकड़े तो पहले ही हमारे पास आ चुके हैं, आप यह बताएं कि आपके पास आगे का क्या प्लान है?

खट्टर को लगी फटकार, PM ने पूछा “क्या कर रहे हैं आप?”

PM श्री नरेंद्र मोदी ने हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर से प्रश्न किया कि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए आपकी सरकार ने अब तक क्या-क्या कार्य किए हैं और वर्तमान में आप क्या कार्य कर रहे हैं और आगे क्या करेंगे? यह बताइए. PM नरेंद्र मोदी के इस प्रश्न का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री खट्टर ने कहा कि हिसार, पानीपत, रोहतक, रेवाड़ी, फरीदाबाद और गुरुग्राम में कई पाबंदियां लगाई गई है. शहरों में भीड़ भाड़ को कम करने के लिए आदेश दिए गए हैं कि खुले स्थानों पर 100 और बंद स्थानों पर 50 से अधिक लोग इकट्ठे नहीं होंगे. उन्होंने यह भी कहा कि अन्य जिलों में स्थान के आधार पर 100 व 200 लोगों को इजाजत दी गई है.PM Modi

सुप्रीम कोर्ट ने 2 दिन में मांगा है जवाब

दिवाली के त्यौहार के पश्चात कोरोना संक्रमण के फैलने में अचानक हुई तेजी से पूरा प्रशासन हरकत में आ गया है. इन सभी हालातों को देखते हुए PM नरेंद्र मोदी ने ऐसे आठ राज्यों, जहां पर स्थितियां बहुत अधिक बिगड़ गई हैं, उनमें कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु क्या-क्या प्रयास किए जा रहे हैं और भविष्य में क्या-क्या कदम उठाने की योजनाएं है, यह जानने के लिए एक वर्चुअल मीटिंग की. सुप्रीम कोर्ट ने भी 2 दिनों के अंदर-अंदर सभी राज्यों को जवाब देने को कहा है. इसलिए सभी राज्य अपने अपने स्तर पर कार्य कर रहे हैं. इसी के चलते कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू भी लगा दिया गया है. शादी-ब्याह जैसे सामूहिक आयोजनों को लेकर व इन में शामिल होने वाले लोगों की संख्या के संबंध में कई नियम बनाए गए हैं.PM Modi

राज्यों को दी चेतावनी, कहा लापरवाही ना बरतें

मंगलवार को मीटिंग के दौरान PM नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों को चेतावनी दी कि यदि किसी भी राज्य में कोरोना के विरुद्ध इस लड़ाई में हल्की सी भी लापरवाही बरती गई तो उनके लिए अच्छा नहीं होगा. उन्होंने सभी राज्यों से अपील की कि वे अब और भी ज्यादा सतर्क हो जाएं. PM ने कहा कि कोरोना से होने वाली मृत्यु दर को 1% से नीचे लाने की कोशिश करें. मीटिंग में मुख्यमंत्रियों से वार्तालाप के दौरान PM ने RTPCR जांच के अनुपात को बढ़ाने पर बल दिया और कहा कि घरों में आइसोलेट होने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों की भी बेहतर ढंग से निगरानी करनी होगी

Leave a Comment