सरकारी मदद नहीं मिलने से पड़ोसी राज्यों के किसान पराली जलाने को मजबूर

नई दिल्ली प्रदूषण पर दिल्ली में सियासत शुरू हो गई है आप ने केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड पर भी हमला बोला है। पार्टी ने आरोप लगाया कि हरियाणा, पंजाब और यूपी में। प्रदूषण नियंत्रण के निर्धारित। मानकों का उल्लंधन होने के बावजूद नियंत्रण बोर्ड चुप्पी साधे हुए है।

आप प्रवक्ता सौरभ भारद्धाज ने केंद्रीय प्रदूधण नियंत्रण बौर्ड पर भी साधा निशाना

आप के राष्ट्रीय प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा है कि पड़ोसी राज्य के किसान राज्य और केंद्र सरकार से मदद नहीं मिलने से पराली जलाने को मजबूर हैं। अगले दो-तीन दिनों में पराली का धुआं दिल्ली पहुंचने की आशका है। उन्होने कहा कि दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में कोयला आधारित 13 थर्मल पॉवर प्लांट भी प्रदूषण फैला रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट और केंद्र सरकार के निर्देश के बावजूद कोयला वाला थर्मल प्लांट में प्रदूषण कम करने वाले उपकरण अब तक नहीं लगे हैं।

पार्टी मुख्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता में भारद्राज ने कहा कि पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश के किसान सरकार से मदद नहीं मिलने पर बड़े स्तर पर पराली जला रहे हैं। पराली के धुएं से दो दिन बाद जब दिल्ली में हाहाकार मचेगा, तो लोग कहेंगे कि धूल और गाड़ियों की वजह से दिल्ली में प्रदूषण हो रहा है

Leave a Comment