जाटु लुहारी में ग्रामीणों ने लगाया जाम, सीआइए पर लगाया गोली चलाने का आरोप

Jatu Luhari Villagers jammed accused of firing on CIA
Jatu Luhari Villagers jammed accused of firing on CIA

Jatu Luhari संवाद सहयोगी, बवानीखेड़ा : गांव जाटु लुहारी के ग्रामीणों ने सोमवार को गांव स्थित एक बैंक के सामने भिवानी-हांसी मुख्य मार्ग पर जाम कर दिया। जाम लगाने वाले ग्रामीणों का आरोप था कि सीआइए स्टाफ की एक गाड़ी ने गांव के ही युवक की गाड़ी का पीछा कर फायर कर दिया। जबकि इस आरोप को पुलिस के उच्चाधिकारियों ने सिरे से नकार दिया है। पुलिस प्रशासन के अधिकारियों का कहना युवक व सीआइए पुलिस टीम के बीच हुई गलतफहमी से ही ऐसी स्थिति पैदा हुई है।

Jatu Luhari गोली चलाने की कोई भी घटना घटित नहीं हुई। जबकि कार में सवार युवक राजकुमार का आरोप है कि सीआइए पुलिस की टीम ने उसकी कार का पीछा कर गोली चलाई है। इस आरोप कि जांच के लिए ही गांव जाटु लुहारी के ग्रामीणों ने सोमवार दोपहर को भिवानी-हांसी मुख्य मार्ग पर जाम लगा दिया। इतना ही नही ग्रामीणों ने पुलिस को इस मामले की जांच के लिए केवल तीन घंटों का ही समय दिया।

Jatu Luhari जाम की सूचना मिलते ही बवानीखेड़ा थाना प्भारी रविद्र कुमार व सीआइए-2 प्रभारी श्रीभगवान यादव मौके पर पहुंचे और मामले की जांच का आश्वासन देकर जाम खुलवाया। बाद में दोनों पक्षों को थाने बुलाया गया और दोनों पक्षों के बीच पूछताछ जारी थी। मामले को बढ़ता देख डीएसपी विरेन्द्र सिंह भी थाना पहुंचे और मामले के बारे में जानकारी हासिल कीे।

गांव जाटु लुहारी निवासी राजकुमार ने बताया कि वह भिवानी की फ्रैंड्स कालोनी में रह रहा है। सोमवार अलसुबह वह अपनी गाड़ी में सवार होकर जा रहा था। वह हांसी रोड पर पुल के नजदीक पहुंचा तो एक गाड़ी ने उसका पीछा करना शुरू कर दिया। उसका आरोप है कि जब वह जाटु लुहारी पहुंचा तो गाड़ी में सवार व्यक्तियों ने गोली चला दी। बाद में उसे पता चला उसका पीछा करने वाली गाड़ी में सवार व्यक्ति सीआइए पुलिस टीम के जवान हैं। घटना के बारे में उन्होंने पुलिस को शिकायत दी।

उसका आरोप है कि पुलिस द्वारा उचित कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई। इस बारे में उसने ग्रामीणों को अवगत करवाया। बाद में रोष स्वरूप सैकड़ों ग्रामीण गांव के बैंक के नजदीक एकत्रित हो गए और उन्होंने इस मामले में उचित कार्रवाई अमल में लाए जाने की मांग को लेकर जाम लगा दिया। जाम के कारण करीब डेढ़ घंटे तक भिवानी हांसी मुख्य मार्ग बाधित रहा और सैकड़ों वाहन जाम में फंसे रहे। इससे इस मार्ग से गुजरने वाले वाहन चालक व यात्रियों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी।

सीआइए-2 प्रभारी श्रीभगवान यादव ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि कुछ अपराधी प्रवृति के व्यक्ति बिना नंबर की कार में भिवानी में कोई आपराधिक घटना को अंजाम दे सकते हैं। इसी के चलते सीआइए पुलिस टीम ने हांसी रोड के पुल के नजदीक नाका लगाया हुआ था। उस वक्त भिवानी की ओर से बिना नंबरों वाली एक कार आती दिखाई दी। पुलिस टीम ने कार चालक को रोकने का ईशारा किया लेकिन कार चालक बिना गाड़ी रोके तेज गति से गाड़ी को भगाकर ले गया। पुलिस टीम ने गाड़ी का पीछा किया और गांव जाटु लुहारी में गाड़ी को रूकवाकर गाड़ी में बैठे व्यक्तियों से पूछताछ की। बाद में पुलिस टीम ने अपना परिचय दिया। गाड़ी के नंबर न होने के चलते ही गाड़ी का शक के आधार पर पीछा किया गया।

इसके चलते ही गाड़ी चालक व पुलिस टीम के बीच गलतफहमी पैदा हो गई। सीआइए टीम द्वारा गोली चलाए जाने के आरोप निराधार हैं। इसके बावजूद भी पुलिस द्वारा इस मामले की जांच की जाएगी। थाना प्रभारी रविंद्र कुमार ने बताया कि उनके पास गांव जाटु लुहारी निवासी एक युवक ने सीआइए टीम द्वारा गोली चलाने की शिकायत दी है।

उन्होंने बताया कि प्रारंभिक जांच में गोली चलाने जैसी कोई घटना सामने नहीं आई है फिर भी मामले की गहनता से जांच जारी है। जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। डीएसपी (मुख्यालय) विरेंद्र सिंह ने बताया कि गांव जाटु लुहारी में पुलिस द्वारा गोली चलाने की कोई घटना नहीं हुई। पुलिस व गाड़ी चालक के बीच गलतफहमी से यह स्थिति उत्पन्न हुई है। उन्होंने बताया कि इस मामले की जांच जारी है। जांच के बाद ही उचित कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Leave a Comment