बुढ़ापा पेंशन के लिए अब नहीं काटने पड़ेंगे चक्कर, अब मिलेगी ये सुविधा

कैथल ।  बुढ़ापा पेंशन सम्मान भत्ता के लिए जिन बुजुर्गों के पास अपनी आयु का कोई प्रमाण पत्र नहीं है. उनकी आयु के आकलन के लिए प्रत्येक महीने के दूसरे मंगलवार व दूसरे बुधवार को समाज कल्याण विभाग कार्यालय में आवेदन फॉर्म जमा करवा सकते हैं.

यह भी पढ़े: हरियाणा सरकार अब कराएगी सरकारी डॉक्टरों की डिग्री और प्रमाण पत्रों की जांच

कोरोना की वजह से बंद किये गए मेडिकल कैंपों को दोबारा से शुरू किया जाएगा 

बता दे कि प्रत्येक महीने के तीसरे और चौथे शुक्रवार को मेडिकल बोर्ड के सदस्यों की ओर से आयु की जांच की जाएगी. बोर्ड की टीम में शामिल चिकित्सक बुजुर्गों के शारीरिक ढांचे दांत, आंखें आदि देखकर आयु का पता लगाया जाएगा. कोरोना की वजह से मेडिकल कैंप विभाग द्वारा बंद कर दिए गए थे. विभाग द्वारा एक बार फिर से इन कैंपों को शुरू किया जा रहा है. इस बार मेडिकल में कुछ बदलाव भी किए जा रहे हैं. जिस आवेदन कर्ता के पास जन्म तिथि प्रमाण पत्र, स्कूल प्रमाण पत्र, मतदाता पहचान पत्र व मतदाता सूची में नाम है, उन्हें उसी आधार पर योजना का लाभ मिलेगा. अगर जन्मतिथि का कोई भी प्रमाण पत्र है तो विभाग की ओर से उसका कोई मेडिकल नहीं करवाया जाएगा.

इन स्थानों पर लगाया जाएगा मेडिकल कैंप 

प्रत्येक महीने के दूसरे मंगलवार को ब्लॉक कैथल एमसी राजौंद, ब्लॉक सीवन, गुहला तथा एमसी चीका मे कैंप लगाया जाएगा. पहले इसके लिए आवेदन लिए जाएंगे. उसके बाद प्रत्येक महीने के तीसरे शुक्रवार को मेडिकल कैंप का आयोजन किया जाएगा. प्रत्येक महीने के दूसरे बुधवार को ब्लॉक कलायत,एमसी कलायत, ब्लॉक पुंडरी, एमसी पुंडरी, एमसी कैथल में कैंप लगाए जाएंगे. प्रत्येक महीने के चौथे शुक्रवार को मेडिकल कैंप का आयोजन किया जाएगा.

यह भी पढ़े:HSSC ने इस भर्ती का अंतिम परिणाम किया जारी, यहां देखें पूरी लिस्ट

जिला समाज कल्याण अधिकारी कुलदीप ने बताया कि जिन बुजुर्गों के पास अपनी आयु का कोई भी प्रमाण पत्र नहीं है. वे कैंप में आकर मेडिकल करवा सकते हैं. उसके लिए पहले उन्हें आवेदन करना होगा. उसके बाद स्वास्थ्य विभाग की ओर से मेडिकल किया जाएगा. बुढ़ापा पेंशन संबंधित समस्याओं के लिए कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं. महिला व पुरुषों बुजर्गो के लिए 60वर्ष की आयु निर्धारित की गई है.

Leave a Comment