कुछ इस तरह की होगी संसद भवन की नई बिल्डिंग

Something like this will be the new building of Parliament House, PM Modi  will do Bhoomi Pujan on 10 December - Granthshala News

10 दिसंबर को पीएम मोदी करेंगे भूमि पूजन

अधिकारियों ने सितंबर में बताया था कि इसके लिए कंपनी ने 861.90 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी. संसद के नए परिसर को बनाने में तकरीबन एक साल लगने की उम्मीद है.

नई दिल्ली: भारत ने नए संसद भवन की पहली तस्वीर सामने आ गई है. संसद भवन की नई इमारत का डिजाइन त्रिभुज (Triangle) के आकार का होगा और पुराने परिसर के पास इसका निर्माण होगा. नए भवन का निर्माण टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड करेगी. बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) नए संसद (Parliament) भवन के निर्माण के लिए भूमि पूजन 10 दिसंबर को करेंगे. नई बिल्डिंग में एक बड़ा कॉस्टीट्यूशन हॉल होगा, जिसमें भारत की लोकतांत्रिक विरासत की झलक दिखाई देगी. इसके अलावा, संसद सदस्यों के लॉन्ज, कई कमेटियों के लिए कमरे, डाइनिंग एरिया और पर्याप्त पार्किंग स्पेस होगा. 

संसद भवन की नई बिल्डिंग के भूमि पूजन का निमंत्रण पीएम मोदी को देने के लिए आज दोपहर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Om Birla) प्रधानमंत्री आवास पहुंचे. बिरला ने प्रस्तावित भवन के बारे में विवरण पेश करते हुए कहा, ‘‘लोकतंत्र का वर्तमान मंदिर अपने 100 साल पूरे कर रहा है. यह देशवासियों के लिये गर्व का विषय होगा कि नए भवन का निर्माण हमारे अपने लोगों द्वारा किया जाएगा, जो आत्मनिर्भर भारत का एक प्रमुख उदाहरण होगा.”

उन्होंने कहा, ‘‘नए भवन के माध्यम से देश की सांस्कृतिक विविधता प्रदर्शित होगी. आशा है कि आजादी के 75 साल पूरे होने पर संसद का सत्र नए भवन में आयोजित होगा.” लोकसभा अध्यक्ष के अनुसार, संसद की नयी इमारत भूकंप रोधी क्षमता वाली होगी और इसके निर्माण में 2000 लोग सीधे तौर पर शामिल होंगे तथा 9000 लोगों की परोक्ष भागीदारी होगी. उन्होंने बताया कि नए संसद भवन में 1224 सांसद एकसाथ बैठ सकेंगे और मौजूदा श्रम शक्ति भवन (संसद भवन के निकट) के स्थान पर दोनों सदनों के सांसदों के लिए कार्यालय परिसर का निर्माण कराया जाएगा.

बिरला ने कहा कि संसद के वर्तमान भवन को देश की पुरातात्त्विक संपत्ति के तौर पर संरक्षित रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि नए भवन के निर्माण की आधारशिला संबंधी कार्यक्रम के लिए सभी राजनीतिक दलों को आमंत्रित किया जाएगा. कुछ लोग मौके पर मौजूद होंगे तथा अन्य लोग डिजिटल माध्यम शामिल होंगे. इस कार्यक्रम में कोरोना वायरस से संबंधित सभी दिशा निर्देशों का पालन होगा.

बिरला ने शनिवार को प्रधानमंत्री मोदी को इस कार्यक्रम का औपचारिक निमंत्रण दिया. नियमों के मुताबिक, लोकसभा का अध्यक्ष संसद भवन का संरक्षक भी होता है. नए भवन के निर्माण के दौरान वायु एवं ध्वनि प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए पर्याप्त उपाय किए गए हैं.

https://chat.whatsapp.com/Bd8pbwXsp8CIbwJIgl7YJw
https://chat.whatsapp.com/Bd8pbwXsp8CIbwJIgl7YJw

Leave a Comment