हरियाणा में बन रहा ऐसा एक्सप्रेस वे, जिसमें सिंगल पियर पर बनेगा आठ लेन फ्लाईओवर, भारत में ऐसा पहला निर्माण, देखिये

गुरुग्राम में केंद्रीय सड़क परिवहन तथा राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी आज केंद्रीय राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह के साथ गुरूग्राम में द्वारका एक्सपै्रस वे के निर्माण कार्य का निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के अधिकारियों ने बताया कि इस एक्सपै्रस वे के हरियाणा में पड़ने वाले हिस्से का लगभग 50 प्रतिशत निर्माण कार्य पूरा हो चुका है।

गडकरी आज केंद्रीय राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह के अनुरोध पर एक्सपै्रस वे का निरीक्षण करने आए थे। राव के अलावा उनके साथ दिल्ली से सांसद रमेश बिधुड़ी तथा गुड़गांव के विधायक सुधीर सिंगला भी थे। श्री गडकरी ने खेड़की दौला टोल प्लाजा के पास से द्वारका एक्सपे्रस वे के निर्माण की प्रगति का जायजा लेना शुरू किया। वे राव इंद्रजीत सिंह के साथ मीडिया प्रतिनिधियों की विशेष बस में ही सवार होकर इस पूरे एक्सपै्रस-वे को देखने गए। माना जा रहा है कि केंद्रीय मंत्री श्री गडकरी के निरीक्षण से द्वारका एक्सपै्रस वे के निर्माण कार्य को गति मिलेगी।

उन्होंने यह भी बताया कि द्वारका एक्सपै्रस वे की कुल 29 किलोमीटर लंबाई मे से 23 किलोमीटर एलीवेटिड है तथा चार किलोमीटर की दूरी में टनल का निर्माण होगा। ऐलीवेटिड भाग में आठ लेन का फलाईओवर सिंगल पियर पर बनाया जा रहा है जोकि भारत वर्ष में अपनी तरह का पहला निर्माण है। यह भी बताया गया कि इस एक्सपै्रस वे का निर्माण चार पैकेज में किया जा रहा है। इसमें दो पैकेज हरियाणा प्रदेश की सीमा में पड़ते हैं जो एल एण्ड टी कंपनी द्वारा तथा बाकि के दो पैकेज दिल्ली प्रदेश की सीमा में पड़ते हैं जो जय कुमार इंफ्रा प्रोजेक्ट लिमिटेड द्वारा पूरे किए जा रहे हैं।

लगभग 9 हजार करोड़ रूपए की लागत से बनने वाले इस एक्सपे्रस वे के चार पैकेज में एक पैकेज दिल्ली-जयपुर हाईवे से बसई-धनकोट आरओबी तक लगभग 8.76 किलोमीटर लंबाई का है जिस पर 1859 करोड़ रूपए की अनुमानत लागत आएगी। इसी प्रकार दूसरा पैकेज बसई-धनकोट आरओबी से लेकर हरियाणा-दिल्ली सीमा तक लगभग 10.2 किलोमीटर लंबाई का है जिस पर 2228 करोड़ रूपए की अनुमानत लागत आएगी। इन दोनो पैकेज में निर्माण कार्य इस वर्ष के अंत तक पूरा हो जाएगा।

तीसरा पैकेज हरियाणा-दिल्ली सीमा से बिजवासन में आरयुबी तक लगभग 4.20 किलोमीटर लंबाई का है जिस पर लगभग 2068 करोड़ रूपए की लागत आएगी और चैथा पैकेज बिजवासन आरयुबी से शिव मूर्ति तक का 5.90 किलोमीटर लंबाई का है जिस पर 2507 करोड़ रूपए की लागत आएगी। दिल्ली सीमा में पड़ने वाले दोनो पैकेज अगले वर्ष अंत तक पूरा होने का अनुमान है।

Leave a Comment